RAM और ROM की परिभाषा | RAM और ROM में अंतर

इस आर्टिकल में हम RAM और ROM की जानकारी पढ़ेगें साथ ही RAM और ROM में क्या अंतर हैं इसे भी जानेगें। यदि आप रेम और रोम की जानकारी जानना चाहते हैं तो आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़िए।

पिछले पेज पर हमने Data Transmission की जानकारी शेयर की हैं यदि आपने उस पोस्ट को नहीं पढ़ा तो उसे भी जरूर पढ़े।

चलिए आज हम RAM और ROM की परिभाषा और RAM और ROM में अंतर की जानकारी को पढ़ते और समझते हैं।

RAM क्या हैं

RAM का Full Form – Random Access Memory होता है। 

RAM किसी भी डिवाइस या कंप्यूटर के लिए बहुत जरूरी हिस्सा होता है। RAM का उपयोग डाटा को स्टोर करने के लिए किया जाता है पर यह तभी तक स्टोर रहता है।

जब तक हमारा मोबाइल या कंप्यूटर चालू रहता है या काम कर रहा होता है मोबाइल या कंप्यूटर के बंद होते ही RAM का सारा डाटा मिट जाता है।

अगर दूसरे शब्दों में कहा जाए तो जब भी आप कोई Application डाउनलोड करते हैं तो वह आपकी इंटरनल मेमोरी में सेव होती है परंतु जब आप उस Application को उपयोग करते हैं तो वह RAM में चलती है।

उदाहरण के लिए मान लेते हैं कि आपका फोन बन्द या स्विच ऑफ है। इस समय आपका RAM पूरा खाली है और आपकी RAM का इस्तेमाल नहीं हो रहा है। जो भी आपका डाटा है वह आपके Phone स्टोरेज में है या फिर आपके मेमोरी कार्ड में है।

और जैसे ही आप अपना फोन शुरू करते हैं आपका Operating System आपके फोन में लोड हो जाएगा। यह system सबसे पहले आपकी RAM का इस्तेमाल करेगा और इसके साथ ही जो भी जरूरी Application है उनको चालू कर देगा।

इसी लिए सभी Application को बंद करने के बाद भी फोन की RAM इस्तेमाल होती रहती है। इसके बाद आप जब अपने मोबाइल पर कोई नई Application खोलते हैं तो वह RAM में चली जाती है और कुछ Application खोलने के बाद यह फुल हो जाती है।

RAM फुल होने के बाद अगर आप कोई Application चालू करते हैं तो वह उसके जगह बनाने के लिए पहले के app को बंद कर देता है। मतलब कि वह अपने RAM से उस Application को निकाल कर उसको internal storage में भेज देता है।

और ऐसा बार बार करने से हमारे फोन की स्पीड कम हो जाती है। RAM का साइज ROM से बहुत कम होता है पर RAM की स्पीड ROM की स्पीड से बहुत ज्यादा होती है इसलिए कहते है कि जितनी ज्यादा आपके फोन की RAM होगी उतना ही फास्ट आपका फोन काम करता हैं।

Note – RAM और ROM दोनों ही मोबाइल या कंप्यूटर का सबसे जरूरी हिस्सा होते है।

जरूर पढ़िए :

RAM का क्या काम होता हैं

RAM में डाटा सिर्फ तब तक सेव होता है जब तक इसमें पावर सप्लाई रहती है, जैसे ही Power Supply बंद हुई आपका डाटा डिलीट हो जाता हैं।

RAM एक Temporary Memory होती है जो हमारे कंप्यूटर या मोबाइल के एप्पस और सॉफ्टवेर को चलाने का काम करता है।

जब हम कोई सॉफ्टवेर या अप्प्स सुरु करते है तो वो हमारी RAM पर काम करता है लेकिन जब तक वो सुरु नहीं करते हैं तब तक वह ROM में Save रहता है।

RAM की जरूरत क्यों होती है

सॉफ्टवेयर जब स्टार्ट होते है और काम करते है तब तक RAM की जरूरत होती है। क्योंकि हमारा कंप्यूटर सॉफ्टवेयर से फास्टली काम करवाना चाहता है। और ROM की स्पीड बहुत कम होती है और RAM की स्पीड बहुत ज्यादा होती हैं 

इसलिए हमारा कंप्यूटर सॉफ्टवेयर या एप्प्स को RAM पर स्टार्ट करता है ताकि वो सॉफ्टवेयर जल्दी काम करे। और जब तक हमारा सॉफ्टवेयर काम करता है तब तक ही RAM का उपयोग होता है, जैसे ही आपने प्रोग्राम बंद किया आपकी RAM से वो डिलीट हो जायेगा लेकिन ROM मे Save रहेगा।

ROM क्या हैं

ROM का Full Form –Read Only Memory होता है। 

ROM कंप्यूटर सिस्टम का प्राइमरी स्टोरेज डिवाइस है। यह Chip के आकार की होती है जो भी कंप्यूटर के मदरबोर्ड से जुड़ी हुई होती है। यह डाटा को हमेशा ही Save रखता हैं Computer के द्वारा जो भी जानकारी उपयोग की जाती है वह ROM से ही लेते हैं।

इस में आप कुछ लिख नहीं सकते हैं या कोई डाटा स्टोर नहीं कर सकते हैं। यह कंप्यूटर के शुरू होने के बाद डाटा को Regenerate करती है। 

इसमें हम जो भी Application, Music, Data, File, Game आदि डाउनलोड किए जाते हैं तो वह हमेशा हमारी प्राइमरी मेमोरी ROM में सेव हो जाता है और जब हमारा मोबाइल या कंप्यूटर को कोई भी जानकारी चाहिए होती है तो वह ROM से RAM में आ जाती है और वह जानकारी जैसे गेम, म्यूजिक, और सभी एप्प्स RAM मैं काम करते है।

ROM के कार्य

ROM ऐसी Memory होती हैं जहाँ हम अपना सारा डाटा सेव करते है जैसे ऑडियो, विडियो, फोटो, Document और जो सॉफ्टवेर या अप्प्स इनस्टॉल करते है वो भी ROM में ही Save होती है।

ROM की स्पीड RAM से बहुत कम होती है। ROM और RAM के Price में भी बहुत ज्यादा अंतर होता है, इसका कारण है की RAM की स्पीड ज्यादा होती है और बनाने में खर्च ज्यादा आता है।

RAM और ROM में अंतर

RAM ROM
RAM में ऐसा नहीं होता है इसमे डाटा सेव करने के लिए पावर की जरूरत पड़ती हैं। ROM में डाटा सेव करने के लिए पावर की जरूर नही होती हैं बिना पावर के भी डाटा सेव हो जाता है।
RAM का उपयोग Temporary storage के लिए किया जाता है। ROM का उपयोग Permanent storage के लिए किया जाता है।
RAM में पावर सप्लाई हटने के बाद स्टोर जानकारी भी डिलीट हो जाती है। ROM में बिना पावर सप्लाई के जानकारी स्टोर की जा सकती हैं।
RAM में डाटा को स्टोर करने के लिए ज्यादा समय नहीं लगता है। ROM में डाटा को स्टोर करने के लिए समय लगता है।
RAM में 1 GB से लेकर 256 GB तक मेमोरी स्टोर की जा सकती है। RAM में रियल टाइम डाटा सेव होता है। ROM में ऑडियो, विडियो, म्यूजिक और ऐप्स आदि स्टोर होते हैं।
RAM डाटा को CPU के माध्यम एक्सेस किया जा सकता है। ROM में डाटा को CPU द्वारा एक्सेस नहीं किया जा सकता है।
RAM कंप्यूटर या मोबाइल चालू रहता है तब तक की काम करता है। ROM कंप्यूटर या मोबाइल बंद होने के बाद भी डाटा सेव करके रखती है।

जरूर पढ़िए :

आशा हैं आपने यह आर्टिकल पूरा पढ़ा होगा ROM और RAM का यह आर्टिकल आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्ती के साथ भी जरूर शेयर करें।

Leave a Comment